Monday, 11 May 2020

Solidaridad & Vippy Industries Ltd.




आदरणीय सरपंच महोदय

नमस्कार

यह  सन्देश आपको सॉलीडैरीडैड और विप्पी इंडस्ट्रीज लिमिटेड देवास  के माध्यम से दिया जा रहा है|

पिछले कुछ वर्षों से मध्यप्रदेश राज्य में सॉलीडैरीडैड और विप्पी इंडस्ट्रीज लिमिटेड के  संयुक्त तत्वाधान में  सोयाबीन के किसानों की आजीविका को मजबूत करने के उद्देश्य से  सोयाबीन की खेती के बारे में तकनीकी जानकारी उपलब्ध कराने का सेवा कार्य किया जा रहा हैं।

इन दोनों संस्थाओं ने  मिलकर किसानों के लिए पैदावार में वृद्धि, किसान का बाजार से जुड़ाव और सोयाबीन के उत्पादों से कुपोषण दूर करने की योजना बनाई है, जिसे इस वर्ष  सोयाबीन सीजन से लागू किया जाना है |

यह किसान एवं जनहितैषी कार्यक्रम मध्यप्रदेश शासन के विभिन्न विभागों जैसे मध्यान भोजन कौंसिलकेंद्रीय कृषि अभियांत्रिकी संस्थान - भोपाल और ईस्ट वेस्ट सीड्ससमर्थ किसान के संयुक्त प्रयासों से देवास , उज्जैनआगर मालवासीहोर और भोपाल जिले में चलाया जायेगा।

आज हम आपको सोयाबीन की खेती से जुड़े तीन महत्वपूर्ण सुझाव और सोयाबीन के उन्नत बीज किस्मों  का चयन किस प्रकार करें इस विषय मे जानकारी देने जा रहे हैं।

सुझाव -1

गत  वर्ष  मौसम अनुकूल न होने के कारण सोयाबीन के बीज की उपलब्धता सुलभ होने वाली प्रतीत नहीं  हो रही है।  

अतः सबसे पहला सुझाव यह है कि किसान भाई पिछले वर्ष की लगाई गयी किस्म का बीज बुवाई के लिए सुरक्षित कर लें

उसके बाद प्रयास करे कि विश्वास वाली सरकारी अथवा निजी संस्थाओं से निम्न सोयाबीन की किस्मों प्रमाणित बीज प्राप्त करने का प्रयास करें।

सुझाव-2

सोयाबीन उत्पादन में स्थिरता लाने तथा प्रतिकूल परिस्थितियों  से  संभावित हानि को कम करने हेतु यह सुझाव दिया जाता है कि सोयाबीन की एक से अधिक किस्मों की बुवाई की जाये

इससे फलियों के चटकने से होने वाले  नुकसान से बचा जा सकता है,  सोयाबीन की दो तीन किस्मों की एक साथ खेती करने से कीट और रोग के नियंत्रण, कटाई गहाई में समय की सुविधा और अधिक पैदावार का लाभ मिलता है |

सुझाव -3

सोयाबीन के किसानों को सुझाव दिया जाता है कि अपने पास उपलब्ध बीज और बाजार से खरीद कर लाये गये सोयाबीन के बीज का बौवानी से पहले अंकुरण परीक्षण करके यह अवश्य सुनिश्चित कर लें की बोये जाने वाले बीज का न्यूनतम अंकुरण 70 % है भी या नही

अंकुरण परीक्षण करने के लिए ऊपर दिखाए गये विडियो के अनुसार एक बोरी लेकर उसे गीला करें और विडियो में दिखाए गये तरीके के अनुसार  पूरे गिन कर 100 बीज डालें और बोरी को जैसा विडियो में दिखाया गया उसी तराह लपेट कर अँधेरे स्थान पर दो तीन दिनों के लिए रख दें | 100 बीजों में से 70 या उससे अधिक बीज अंकुरित हो जाएँ तो मान लें कि  बीज उत्तम है |

आइये अब जानते हैं सोयाबीन की कुछ उपयुक्त किस्मों के बारे में

  1. जेएस 20-34 (96-101 दिन)
  2. आर व्ही एस 2001-04 (92-96 दिन)
  3. आरव्हीएस 2001-04(101-105 दिन)
  4. जे एस 20-69 (91-097 दिन)
  5. जे एस 20-34 (86-88 दिन)
  6. जे एस 20-29 (93-98 दिन)
  7. जेएस 95-60 (85-89 दिन)
  8. एन आर सी 127(100-104 दिन)  

अधिक नमी वाले खेतों के लिए विशेष किस्में

  1. एन आर सी 37 (99-105 दिन)
  2. जे एस 97-52 (100-106 दिन) 

आपसे निवेदन है कि आपके फोन के मैसेज बॉक्स में हमने जो लिंक भेजा है, उसे कृपया आप अपने स्थानीय व्हाट्स एप्प ग्रुप में शेयर कर दें ताकि आपके माध्यम से यह महत्वपूर्ण सूचनाएं आपके क्षेत्र में जन जन तक पहुँच कर आम जन को लाभान्वित करें |

यदि आप स्वयं कोई स्थानीय व्हाट्सएप्प ग्रुप चलाते हैं तो हमारे कार्यालय के मोबाइल नंबर 9992220655 को उसमें शामिल कर लें हम आपके व्हाट्स एप्प ग्रुप में खेती बाड़ी , पशुपालन से जुडी जनोपयोगी सूचनाएं भेजेंगे जिससे आपके पंचायत क्षेत्र में आमजन को लाभ होगा |

हम आपको जो सन्देश उपलब्ध करवा रहे हैं आपको यह सन्देश कैसे लग रहे हैं इसके बारे में भी आप अपनी प्रतिक्रिया हमारे कार्यालय के ऊपर बताये हए नंबर पर व्हाट्सएप्प के माध्यम से भेज सकते हैं |

सॉलीडैरीडैड और विप्पी इंडस्ट्रीज लिमिटेड ओर से आपका हार्दिक धन्यवाद

Seen = 3245 times