Wednesday, 13 May 2020

Solidaridad & Vippy Industries Ltd.








आदरणीय सरपंच महोदय

नमस्कार

यह सन्देश आपको सॉलीडैरीडैड और विप्पी इंडस्ट्रीज लिमिटेड - देवास के द्वारा दिया जा रहा है |

आज के इस एपिसोड में हम आपको भारतीय सोयाबीन अनुसन्धान संस्थान इंदौर के द्वारा विकसित किये गये सब्स्वॉयलर नामक यंत्र के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं

जैसा की आप जानते हैं कि सोयाबीन की खेती में नर्म भूमि की आवश्यकता होती है इसके लिए  भारतीय सोयाबीन अनुसंधान संस्थान खंडवा रोड इंदौर ने मिटटी की कड़ी परत को तोड़ कर नर्म बनाने हेतु सब्स्वॉयलर नामक यंत्र को विकसित किया है |

सब्स्वॉयलर मशीन को मूल रूप से सोयाबीन के खेतों में नमी की कमी की भरपाई करने हेतु विकसित किया गया है

मूसलाधार वर्षा के कारण खेतों में जो जल जमाव हो जाता है जिससे एवं भू अपक्षरण होने लगता है और मिटटी की नमी धारण करने की क्षमता कम होने लगती है, सबसोयलर के प्रयोग से भूमि को ठीक करके मिटटी को नमी संरक्षित करने के लायक बनाया जा सकता है |

इस यंत्र के उपयोग से खेत में मिटटी की कड़ी परत को तोड़ कर नर्म बनाया जाता है और  वर्षा के जल का उपयोग करके पानी की भारी बचत भी की जा सकती है  

सबसोयलर यंत्र खेत अंदर कठोर परत को  24 इंच या उससे थोडा अधिक लगभग 30 इंच नीचे तक जाकर तोड़ने की क्षमता  रखता है  

आइये अब हम आपको सब्स्वॉयलर यंत्र के उपयोग से होने वाले लाभ के विषय में जानकारी देते हैं

  1. सब्स्वॉयलर कठोर मिट्टी की परत को तोड़ कर मिटटी के नर्म बनाता है , वर्षा जल से नमी का संचयन अच्छे तरीके से हो जाता है और सूखे की स्थिति से निपटने में आसानी होती है
  2. खेत में जल निकासी अच्छी हो जाती है और मिटटी में ओसमोसिस प्रक्रिया के द्वारा खनिजों की उपलब्धता बढ़ जाती है
  3. खेतो में भूमि के अंदर गहरी जड़ों वाले खरपतवारों का निबटारा आसानी से हो जाता है

सब्स्वॉयलर के सफल परिचालन एवं सर्वोतम परिणाम प्राप्त करने के लिए कुछ सुझाव इस प्रकार हैं

रबी सीजन की फसल कटाई के बाद सब्स्वॉयलर का प्रयोग करके खेत को खुले छोड़ देना चाहिए ताकि वर्षा का  जल को खेत की मिटटी में ही अच्छे से अवशोषित हो जाए 

यदि प्रतिवर्ष ऐसा करना संभव नहीं है तो 2 या 3 वर्षों में कम से कम एक बार तो करना ही चाहिए एवं दूसरी और सामान्य खेतों की तैयारी का कार्य भी चलते रहना चाहिए

खनिजों से परिपूर्ण मिटटी जिसे वर्टिसोल भी कहते हैं  में सुगमता के साथ सफल संचालन हेतु 60     पी टी ओ हॉर्स पावर की क्षमता वाले ट्रैक्टर एवं नर्म मिट्टी के हेतु 50 पीटीओ हॉर्स पावर की क्षमता वाली ट्रैक्टर का प्रयोग करना चाहिए

सब्स्वॉयलर यंत्र काफी मजबूत है और इसके कलपुर्जों की अभिकल्पना सख्त जमीन में शीघ्र खराब ना होने वाली मशीन के रूप में की गयी है

सब्स्वॉयलर का वजन लगभग 200 किलोग्राम होता है और यह लगभग 30इंच की गहराई तक आसानी से जमीन में जा सकता है

सब्स्वॉयलर यंत्र को प्राप्त करने के लिए कार्यालय निदेशक भारतीय सोयाबीन अनुसंधान संस्थान खंडवा रोड इंदौर मध्यप्रदेश में सम्पर्क किया जा सकता है|

संपर्क करने के लिए

एस टी डी कोड 0731 और टेलीफोन नम्बर 2476188,  2478414 पर बात करें

ईमेल भेजने का पता है  :-       soybean.director@icar.gov.in

किसान भाइयों एपिसोड के अंत में हम आपको मौसम के पूर्वानुमान की जानकारी देने जा रहे हैं

राज्य कृषि मौसम विज्ञान केंद्र भोपाल द्वारा तैयार विशेष बुलेटिन जिसे जवाहरलाल नेहरु कृषि विश्वविधालय जबलपुर और राजमाता विजयराजे सिंधियां कृषि विश्वविधालय ग्वालियर एवं मध्यप्रदेश शासन के किसान कल्याण एवं कृषि विभाग भोपाल के संयुक्त तत्वाधान में दिनांक 12 मई  2020 को जारी किया गया है |

इसमें बताये गये मौसम के पूर्वानुमान के अनुसार आज 13 मई 2020 को चम्बल  और ग्वालियर संभाग के साथ , रीवा , शहडोल , जबलपुर , दमोह , सागर , टीकमगढ़ , सीहोर, , भोपाल, होशंगाबाद और बेतुल जिलों में अलग अलग स्थानों पर बिजली चमकने आंधी और गरज के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है |

आपसे निवेदन है कि आपके फोन के मैसेज बॉक्स में हमने जो लिंक भेजा है, उसे कृपया आप अपने स्थानीय व्हाट्स एप्प ग्रुप में शेयर कर दें ताकि आपके माध्यम से यह महत्वपूर्ण सूचनाएं आपके क्षेत्र में जन जन तक पहुँच कर आम जन को लाभान्वित करें |

यदि आप स्वयं कोई स्थानीय व्हाट्सएप्प ग्रुप चलाते हैं तो हमारे कार्यालय के मोबाइल नंबर 9992220655 को उसमें शामिल कर लें हम आपके व्हाट्स एप्प ग्रुप में खेती बाड़ी , पशुपालन से जुडी जनोपयोगी सूचनाएं भेजेंगे जिससे आपके पंचायत क्षेत्र में आमजन को लाभ होगा |

हम आपको जो सन्देश उपलब्ध करवा रहे हैं आपको यह सन्देश कैसे लग रहे हैं इसके बारे में भी आप अपनी प्रतिक्रिया हमारे कार्यालय के ऊपर बताये हए नंबर पर व्हाट्सएप्प के माध्यम से भेज सकते हैं |

सॉलीडैरीडैड और विप्पी इंडस्ट्रीज लिमिटेड देवास की ओर से आपका हार्दिक धन्यवाद

Seen = 1664 times