Monday, 13 Jul 2020

Kisan Sanchar Uttrakhand Desk








www.mausam.imd.gov.in

उत्तरकाशी जिले का मौसम पूर्वानुमान

माननीय महोदय

नमस्कार

मौसम का यह पूर्वानुमान आपको भारतीय मौसम विज्ञान विभाग एवं किसान संचार के द्वारा दिया जा रहा है

उत्तरकाशी

उत्तरकाशी जिले में आज, कल और परसों वर्षा होने का अनुमान है अधिकतम तापमान 28 तथा न्यूनतम तापमान 20 डिग्री सेल्सियस रहने के साथ ही हवा की गति 5 किलोमीटर प्रति घंटा तक रह सकती है

किसान भाइयों को कृषि सलाह

किसान भाइयों को यह सलाह दी जाती है की मौसम को ध्यान में रखते हुए फसलों से वर्षाजल निकास का उचित प्रबंध करें |

मंडुवा, रामदाना, मक्का, दलहनी/तिलहनी फसलों की बुवाई संपन्न करें फ्रास्बीन की फलियों की तुडाई कर विपणन करें |

शिमला मिर्च, बैंगन, टमाटर, काढू आदि पौध का प्रत्यारोपण करे कीट नियंत्रण के लिए खेतों के किनारों पर गेंदा फूल पौध का रोपण करें |

 

किसन भाइयों एपिसोड के अगले भाग में हम आपको  विभिन्न फसलों के बारे में भारतीय मौसम विज्ञान विभाग द्वारा जारी एग्रो एडवाइजरी यानि कृषि सलाह के बारे में बताने जा रहे हैं

 

धान

रोपाई से 10 दिन के अंदर मरे पौधों की जगह नई पौध का रोपण करें खेतों के किनारों को मजबूत रखें तथा खरपतवार निकाल दें |

टमाटर

टमाटर की खेती करने वाले किसान भाइयों को यह सलाह दी जाती है की पौधों को सीधा रखें तथा खेत में आतिरिक्त वर्षाजल एकत्र न होने दें | कीट नियंत्रण करने के लिए फेरोमे/ प्रकाश प्रपंच स्थापित करें |

फल

फल की खेती करने वाले किसान भाइयों को यह सलाह दी जाती है की पके हुए फलों तुड़ाई कर लें फलों का रस निकलकर स्क्वाश आदि बनाने के लिए प्रति लीटर रस में 1 ग्राम पोटेशियम मेटाबाई सल्फाइट परिरक्षित करें |

फलों को पक्षियों से बचाने के लिए पक्षी अवरोधक जाल से फल वृक्षों को ढक दें |

अदरक एवं हल्दी

अदरक एवं हल्दी की खेती करने वाले किसान भाइयों को यह सलाह दी जाती है की अदरक एवं हल्दी निराई गुड़ाई कर मिटटी चढ़ाने का कार्य करें | खेतों में वर्षाजल का उचित निकास करें |

बैंगन

बैंगन के खेत में वर्षाजल एकत्र न होने दें खरपतवार नियंत्रण के लिए फेरोमेन या प्रकाश प्रपंच स्थापित करें रोग प्रभावित फसल को निकाल कर गढ्ढे मई दबा दें |

नीबूं

इस समय नीबूं की खेती में गुटी बांधने का कार्य कर सकते है |

आलू

अगेती फसल की खुदाई कर विपणन करें |  

पशु पालन

पशु पालन करने वाले किसान भाइयों को ही सलाह दी जाती है की पशुओं को स्वस्थ रखने के लिए हरे चारे के साथ 50 ग्राम आयोडीन युक्त नमक और 50 से 100 ग्राम खनिज मिश्रण प्रतिदिन खिलाएं तथा दिन में तीन बार स्वच्छ एवं ताजा पानी पिलायें |

पशुशाला के अंदर व बाहर मच्छर व कीट नियंत्रण के लिए फीनोल या कीटनाशक दवा का छिड़काव करें खुरपका या मुहपका रोग का टीकाकरण मानसून से पहले करवाएं |

पशुचिकित्सक से परामर्श लेकर पेट के कीड़ों की दवा व बरसात मौसम में होने वाली विभिन्न रोगों से बचाव हेतु टीकाकरण करवाएं |

किसान भाइयों आपको यह सलाह दी जाती है कि अपने निकटतम एग्रीकल्चर रिसर्च स्टेशन , कृषि कालेज , कृषि विज्ञान केंद्र , कृषि अधिकारी या जिला कृषि कार्यालय के सम्पर्क में रहें और अपनी समस्याओं का निराकरण करें |

किसान संचार और भारतीय मौसम विज्ञान विभाग की ओर से आपका धन्यवाद |

Seen = 121 times